देखें,सुपरहिट भोजपुरी गाना 'मोरे बगिया के सुगनवा'

देखें,सुपरहिट भोजपुरी गाना 'मोरे बगिया के सुगनवा'

भोजपुरी सिनेमा की सुपरहिट जोड़ी दिनेश लाल यादव निरहुआ (Nirahua) और आम्रपाली दुबे (Amarpali Dubey) का गाना 'मोरे बगिया के सुगनवा' (More Bagiya Ke Suganawa) का विडियो सोशल मीडिया पर छा गया है। गाने में भोजपुरी और टीवी ऐक्ट्रेस मोनालिसा (Monalisa) भी दिखाई दे रही हैं। भोजपुरी फिल्म 'राजा बाबू' (Raja Babu) के इस गाने में मोनालिसा निरहुआ को आम्रपाली से दूर अपने साथ ले जाती हुईं नजर आ रही हैं। गाने के विडियो में आम्रपाली निरहुआ को खुद से दूर जाता देख भावुक होकर काफी रोती हुई नजर आ रही हैं।




from मूवी-मस्ती - विडियो - Navbharat Times http://bit.ly/31Weo0r
'P Chidambaram is being hunted, we stand by him': Priyanka Gandhi Vadra tweets ...

'P Chidambaram is being hunted, we stand by him': Priyanka Gandhi Vadra tweets ...

Senior Congress leader P Chidambaram faces arrest in the INX Media case, which pertains to the alleged irregularities in the Foreign Investment Promotion Board clearance to the media group for receiving overseas funds to the tune of Rs 307 crore at a time when was the Union finance minister.

from Hindustan Times - topnews http://bit.ly/31QszEl
आखिरी 4 महीनों में बढ़ भी जाए बिक्री तब भी खराब ही रहेगा साल: एस एस किम, MD, ह्युंदै मोटर इंडिया

आखिरी 4 महीनों में बढ़ भी जाए बिक्री तब भी खराब ही रहेगा साल: एस एस किम, MD, ह्युंदै मोटर इंडिया

शर्मिष्ठा मुखर्जी, नई दिल्ली मोटर इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर ने कहा कि चालू कैलेंडर वर्ष में भारत के पैसेंजर वीइकल मार्केट में नरमी बनी रहेगी। उन्होंने कहा कि अगर साल के आखिरी चार महीनों में सेल्स बढ़ जाती है, तो भी यही स्थिति रहेगी। किम ने कहा, 'अगर सरकार ऑटो इंडस्ट्री के लिए कुछ करती है तो मुझे भरोसा है कि बचे हुए चार महीनों में हमें मांग में कुछ रिवकरी देखने को मिल सकती है। हालांकि अगर इंडस्ट्री ओवरऑल वॉल्यूम के स्तर पर अच्छा प्रदर्शन करती है तो भी मुझे कम उम्मीद है कि हम 33 लाख यूनिट्स के टारगेट तक पहुंच पाएंगे।' बिक्री में भारी गिरवट की आशंका टाटा मोटर्स के बाद ह्युंदै दूसरी कंपनी है, जिसने चालू वित्त वर्ष में गाड़ियों की बिक्री में भारी गिरावट आने की आशंका जताई है। बाजार में गाड़ियों के दाम बढ़ने और नकदी की तंगी के बीच कमजोर कन्ज्यूमर सेंटीमेंट से मांग पर असर पड़ा है। इस साल के शुरुआती 7 महीनों (जनवरी-जुलाई) में पैसेंजर वीइकल की सेल्स 13 पर्सेंट घटकर 17.5 लाख यूनिट्स रह गई है। पिछले साल 33.9 लाख पैसेंजर वीइकल्स की बिक्री हुई थी। पढ़ें, ऑटोमेकर्स सरकार से राहत मांगने को मजबूर लगभग दो दशकों में इंडस्ट्री में आई इतनी बड़ी सुस्ती ने ऑटोमेकर्स को सरकार से रिलीफ मांगने के लिए मजबूर कर दिया है। ऑटो इंडस्ट्री ने सरकार से आग्रह किया है कि अस्थायी रूप से ही सही लेकिन गाड़ियों पर लगने वाले 28 पर्सेंट जीएसटी को घटाकर 18 पर्सेंट कर दिया जाए। इंडस्ट्री ने मांग बढ़ाने के लिए वीइकल स्क्रैपेज पॉलिसी की घोषणा के साथ डीलर्स और ग्राहकों को आसानी से कर्ज उपलब्ध कराने जैसी मांग भी की है। सुस्ती के बीच ह्युंदै का अच्छा प्रदर्शन ऑटो सेक्टर में सुस्ती के बीच ह्युंदै ने नई गाड़ियों के लॉन्च के बाद अच्छा प्रदर्शन किया। हालांकि उसे इनवेंटरी लेवल में संतुलन लाने के लिए इस महीने की शुरुआत में दो दिनों के लिए प्रॉडक्शन बंद करना पड़ा था। किम ने कहा कि यह बंद एक बार के लिए था क्योंकि मजबूत निर्यात से कार कंपनियों को यूटिलाइजेशन स्तर बनाए रखने में मदद मिल रही है। पढ़ें, ह्युंदै ने नौकरियों में कटौती नहीं की उन्होंने बताया, 'दो दिन काफी होते हैं। हमारे पास प्रॉडक्शन के स्तर पर कई रणनीतियां हैं। इनमें निर्यात बढ़ाने और लोकल मार्केट के लिए मैन्युफैक्चरिंग जारी रखने जैसी रणनीतियां शामिल हैं। हमारी एसयूवी असेंबली लाइन काफी व्यस्त है। हम इस पर 24 घंटे और सातों दिन काम कर रहे हैं। ह्युंदै मोटर इंडिया ने नौकरियों में कटौती नहीं की है और हम योजना के मुताबिक अपने 7,000 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा पर काम करते रहेंगे।' ह्युंदै की ग्रैंड i10 Nios की लॉन्चिंग के मौके पर किम ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि यह मॉडल कॉम्पैक्ट कार के ग्राहकों को बाजार के केंद्र में लाएगी। इसकी कीमत 4.99-7.99 लाख रुपये के बीच है।


from Latest Business News in Hindi - बिज़नेस खबर, बिज़नेस समाचार, व्यवसाय न्यूज हिंदी में | Navbharat Times http://bit.ly/31UsQWZ
दिवाली पर लॉन्च होगा ऐमजॉन फूड डिलिवरी सर्विस, रेस्ट्रॉन्ट्स को लुभाने के लिए खास ऑफर

दिवाली पर लॉन्च होगा ऐमजॉन फूड डिलिवरी सर्विस, रेस्ट्रॉन्ट्स को लुभाने के लिए खास ऑफर

अदिति श्रीवास्तव, बेंगलुरु ने ऑनलाइन फूड डिलिवरी सर्विस में उतरने की तैयारी तेज कर दी है। कंपनी की स्ट्रैटजी से वाकिफ दो लोगों ने बताया कि ऐमजॉन ने रेस्टोरेंट्स को अपने साथ जोड़ना शुरू कर दिया है और वह उन्हें आकर्षित करने के लिए जमैटो और स्विगी के मुकाबले कॉम्पिटिटीव कमीशन रेट ऑफर कर रही है। ऐमजॉन ऐसे समय में फूड-ऑर्डरिंग सेगमेंट में निवेश कर रही है, जब कई रेस्टोरेंट्स ज्यादा डिस्काउंट के चलन को बढ़ावा देने के लिए बड़े फूड ऐग्रिगेटर्स का विरोध कर रहे हैं। रेस्टोरेंट्स का कहना है कि इससे उनके बिजनस को नुकसान पहुंच रहा है। एक सूत्र ने बताया, 'जो रेस्टोरेंट्स अभी तक फूड ऐग्रिगेटर्स को 15-17 पर्सेंट कमीशन दे रहे थे, उन्हें ज्यादा ऑर्डर मिलने के वादे के साथ 6-7 पर्सेंट तक की शुरुआती फीस ऑफर की जा रही है।' कमीशन वह सर्विस फी होती है, जिसे ऐग्रिगेटर किसी रेस्टोरेंट से उसे फूड डिलिवरी ऑर्डर दिलाने के बदले लेते हैं। दिवाली पर लॉन्च होगा फूड डिलिवरी सर्विस उन्होंने बताया कि स्विगी ने भी बिल्कुल इसी रणनीति के साथ शुरुआत की थी। एक दूसरे एग्जिक्युटिव ने बताया कि ई-कॉमर्स सेक्टर की इस दिग्गज कंपनी ने रेस्टोरेंट्स के एक्सक्लूसिविटी कॉन्ट्रैक्ट को तोड़ने की आक्रामक रणनीति अपनाई है। ये कॉन्ट्रैक्ट प्रतिद्वंद्वी ऐग्रिगेटर्स ने कस्टमर को अपने प्लैटफॉर्म के साथ बनाए रखने के लिए किए थे। ऐमजॉन की फूड डिलिवरी सर्विस को दिवाली के आसपास बेंगलुरु में लॉन्च किया जाएगा। इसे कंपनी के दो घंटे में डिलिवरी का वादा करने वाले प्रोग्राम प्राइम नाउ ऐप के तहत 'ऐमजॉन रेस्टोरेंट' के नाम से लॉन्च किया जाएगा। सूत्रों ने बताया कि कंपनी के फूड डिलिवरी बिजनस का फोकस टॉप मेट्रो शहरों पर होगा। कैटामारन के साथ बिजनस करेगी ऐमजॉन ऐमजॉन के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया, 'कंपनी अपने प्रीमियम कस्टमर्स से रिपीट ऑर्डर में इजाफा करने और ऐमजॉन प्राइम यूजर बेस को बढ़ाने पर फोकस करेगी। फूड और ग्रॉसरी डिलिवरी जैसी कैटिगरी में काफी संख्या में ऑर्डर रिपीट होते हैं।' उन्होंने यह भी बताया कि कंपनी आने वाले समय में फार्मा डिलिवरी और ब्यूटी जैसे दूसरे सेगमेंट में भी उतरेगी। ऐमजॉन ने अपने फूड डिलिवरी बिजनस के लिए इंफोसिस के को-फाउंडर एन आर नारायण मूर्ति की कैटामारन से हाथ मिलाया है, जिसने आधिकारिक लॉन्चिंग से पहले सेल्स और एकाउंट मैनेजमेंट टीम की हायरिंग शुरू कर दी है। कंपनी की योजना से वाकिफ एक दूसरे शख्स ने बताया, 'इस टीम ने रेस्टोरेंट्स से संबंध जोड़ने और फूड ऐग्रिगेटर्स पर उनकी निर्भरता के अलावा टॉप सेलिंग आइटम्स समेत दूसरी बारीकियों को समझना भी शुरू कर दिया है।' फूड डिलिवरी में ये टॉप रेस्ट्रॉन्ट्स होंगे शामिल उन्होंने कहा कि ऐमजॉन ने अपने प्लैटफॉर्म पर फ्रेशमेन्यू, रेबेल फूड्स, फूडपांडा, ईट डॉट फिट जैसे क्लाउड किचन्स और मैकडॉनल्ड्स, डॉमिनोज, केएफसी जैसे टॉप रेस्ट्रॉन्ट्स को भी साइन किया है। ऐमजॉन ने ईटी के ईमेल से भेजे गए सवालों का जवाब नहीं दिया। ऐमजॉन का फूड डिलिवरी सर्विस लॉन्च करने का फैसला इस सेगमेंट और इसके बहुत से मॉडलों पर महीनों तक काम करने के बाद लिया है। इन मॉडल्स में निवेश करना, खरीदना, क्लाउड किचन और दूसरे फूड ऐग्रिगेटर्स के साथ पार्टनरशिप करना शामिल था।


from Latest Business News in Hindi - बिज़नेस खबर, बिज़नेस समाचार, व्यवसाय न्यूज हिंदी में | Navbharat Times http://bit.ly/2KKW0lH